covid-19 कोरोना वायरस के क्या हैं ?कोरोना वायरस के लक्षण क्या covid-19

कोरोना वायरस के क्या हैं ?कोरोना वायरस के लक्षण क्या हैं?

चीन के वुहान से शुरू हुआ कोरोना वायरस (Coronavirus disease – COVID-19) अब तक 170 से ज्यादा देशों में पहुंच गया है. इसके संक्रमण से मरने वाले लोगों की संख्या 11,401 हो गई है. विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्लूएचओ) ने इसे महामारी घोषित कर दिया है.

दुनिया भर की सरकारें कोरोना वायरस को लेकर लोगों को जागरूक करने पर ध्यान दे रही हैं. जानकारों का कहना है इसके संक्रमण को फैलने से रोककर ही इसे काबू में किया जा सकता है. इसके लक्षणों को पहचानकर ही कोरोना वायरस की बेहतर तरीके से रोकथाम की जा सकती है

corona-virus

सार्क देशों  के से पीएम मोदी ने की चर्चा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार शाम 5 बजे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए कोरोना वायरस पर सार्क देशों के प्रमुखों से चर्चा की. इस चर्चा में अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी, मालदीव के राष्ट्रपति इब्राहिम सोली, श्रीलंका के राष्ट्रपति गोटबया राजपक्ष, बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना, भूटान के प्रधानमंत्री और नेपाल के प्रधानमंत्री केपी ओली शामिल हुए.

पाकिस्तान के स्वास्थ्य मंत्री इस चर्चा में शामिल हुए. सभी प्रमुखों ने मिलकर कोरोना का मुकाबले करने पर सहमति जताई. इटली में 27,980 लोग जानलेवा वायरस कोरोना की चपेट में आ चुके हैं.

कोरोना से दुनिया भर में अब तक 11,401 लोगों की मौत हो चुकी हैं.

ईरान में अब तक कोरोना से 853 और दक्षिण कोरिया में 81 लोगों की मौत हो चुकी है

सिर्फ इटली में ही अब तक कोरोना से 2,158 लोगों की मौत हो गयी है.

चीन में अब तक कोरोना से प्रभावित लोगों की संख्या 80,824 हो गयी है.

चीन में अब तक कोरोना से मरने वाले लोगों की संख्या करीब 3200 हो गयी है.

दुनिया भर में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 2,50,650 के पार चली गयी है

कोरोना को काबू में करना बड़ी चुनौती

स्वास्थ्य अधिकारियों के लिए इसे फैलने से रोकना एक बड़ी चुनौती बन गई है. हालांकि, चीन इसे रोकने के लिए हर मुमकिन कोशिश कर रहा है. वहां नए मामलों की संख्या घटी है. यह 170 देशों में फैल चुका है.

विश्व स्वास्थ्य संगठन यानी WHO ने इसे महामारी घोषित किया है. WHO की तरफ से एक एडवाइडरी भी जारी की गई है, जिसमें बीमारी के लक्षण पहचानने और उसकी रोकथाम के उपायों के बारे में जानकारी दी गई है.

170 देशों में पहुंचा यह वायरस

चीन से बाहर 170 देशों में कोरोना वायरस के मामलों की पुष्टि हुई है. इन देशों में थाईलैंड, ईरान, इटली, जापान, सिंगापुर, दक्षिण कोरिया, ऑस्ट्रेलिया, मलेशिया, अमेरिका, फ्रांस, जर्मनी और संयुक्त अरब अमीरात शामिल हैं. आइए जानते हैं कि इस वायरस के लक्षण और बचाव के तरीके क्या हैं.

  1. क्या है कोरोना वायरस?
    कोरोना वायरस का संबंध वायरस के ऐसे परिवार से है, जिसके संक्रमण से जुकाम से लेकर सांस लेने में तकलीफ जैसी समस्या हो सकती है. इस वायरस को पहले कभी नहीं देखा गया है. इस वायरस का संक्रमण दिसंबर में चीन के वुहान में शुरू हुआ था. डब्लूएचओ के मुताबिक, बुखार, खांसी, सांस लेने में तकलीफ इसके लक्षण हैं. अब तक इस वायरस को फैलने से रोकने वाला कोई टीका नहीं बना है.
  2. क्या हैं इस बीमारी के लक्षण?
    इसके लक्षण फ्लू से मिलते-जुलते हैं. संक्रमण के फलस्वरूप बुखार, जुकाम, सांस लेने में तकलीफ, नाक बहना और गले में खराश जैसी समस्या उत्पन्न होती हैं. यह वायरस एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैलता है. इसलिए इसे लेकर बहुत सावधानी बरती जा रही है. कुछ मामलों में कोरोना वायरस घातक भी हो सकता है. खास तौर पर अधिक उम्र के लोग और जिन्हें पहले से अस्थमा, डायबिटीज़ और हार्ट की बीमारी है.
  3. क्या हैं इससे बचाव के उपाय?
    स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने कोरोना वायरस से बचने के लिए दिशानिर्देश जारी किए हैं. इनके मुताबिक, हाथों को साबुन से धोना चाहिए. अल्‍कोहल आधारित हैंड रब का इस्‍तेमाल भी किया जा सकता है. खांसते और छीकते समय नाक और मुंह रूमाल या टिश्‍यू पेपर से ढककर रखें. जिन व्‍यक्तियों में कोल्‍ड और फ्लू के लक्षण हों उनसे दूरी बनाकर रखें. अंडे और मांस के सेवन से बचें. जंगली जानवरों के संपर्क में आने से बचें.

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के सात स्टेप्स

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने सात आसान स्टेप्स बताए हैं, जिनकी मदद से कोरोना वायरस को फैलने से रोका जा सकता है और खुद भी इसके इंफेक्शन से बचा जा सकता है.

बचने के लिए करें ये 10 उपाय

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने प्रभावित इलाके लोगों को जो हिदायतें दी हैं, वो इस तरह है

1. दिन में कई बार साबुन से हाथ धोएं.

2. अपने हाथों से आंख, नाक और मुंह को बार-बार नहीं छुएं.

3. अपनी और परिवार की इम्युनिटी को बरकरार रखने वाली चीजों का सेवन करें.

4. खांसते और छींकते समय अपने मुंह और नाक को अच्छी तरह से ढंककर रखें.

5. खांसी, बुखार और जुकाम के लक्षण होते ही तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें.

6. सांस की किसी तकलीफ़ से संक्रमित मरीज़ों के क़रीब जाने से बचें. मास्क लगाएं.

7. किसी संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने के फौरन बाद, पालतू या जंगली जानवरों से दूर रहने की सलाह भी दी गई है.

8. कच्चा या अधपका मांस खाने से परहेज करें.

9. नियमित रूप से साफ-सफाई का ध्यान रखें

10. अगर बुखार और खांसी हो तो यात्रा से परहेज करें

संख्याराज्य का नामहेल्पलाइन नंबर
1.आंध्र प्रदेश0866-2410978
2.अरुणाचल प्रदेश9436055743
3.असम6913347770
4.बिहार104
5.छत्तीसगढ़104
6.गोवा104
7.गुजरात104
8.हरियाणा8558893911
9.हिमाचल प्रदेश104
10.झारखंड104
11.कर्नाटक104
12.केरल0471-2552056
13.मध्य प्रदेश0755-2527177
14.महाराष्ट्र020-26127394
15.मणिपुर3852411668
16.मेघालय108
17.मिजोरम102
18.नगालैंड7005539653
19.ओडिशा9439994859
20.पंजाब104
21.राजस्थान0141-2225624
22.सिक्किम104
23.तमिलनाडु044-29510500
24.तेलंगाना104
25.त्रिपुरा0381-2315879
26.उत्तराखंड104
27.उत्तर प्रदेश18001805145
28.पश्चिम बंगाल1800313444222, 03323412600
संख्याकेंद्र शासित (Union Territory)हेल्पलाइन नंबर
1.अंडमान एंड निकोबार03192-232102
2.चंडीगढ़9779558282
3.दादर एंड नागर हवेली और दमन एंड दीव104
4.दिल्ली011-22307145
5.जम्मू-कश्मीर01912520982, 0194-2440283
6.लद्दाख01982256462
7.लक्षद्वीप104
8.पुडुचेरी104

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *